/* [li class='page_item page-item-35'][a expr:href='data:blog.homepageUrl + "feeds/posts/default"']Posts RSS[/a][/li]

Sunday, May 16, 2010

लेना एक न देना दो

अक्कड़ बक्कड़ बाम्बे बो,
लेना एक देना दो.
 
छत्तीसगढ़ में नक्सल वादी, सत्तर ने जहां जान गवां दी,
नेता साले बेचे तेल, खेलें इस्तीफे का खेल,
दिल्ली में क्यों हलचल हो,
लेना एक ...
 
बच्चों को कैसे दे शिक्षा, यूपी बिहार मांगे भिक्षा,
युवक देश का जैसे गिरगिट, गुटका खा के देखे किरकिट,
फिर लम्बी तान के सो,
लेना एक ...
 
हैती, चिली में आये जलजला, मरें लाखों लोग तो मेरी बला,
मुझको प्यारी मेरी बीयर, शाम ढले ही बोले चीयर,
मत दूजे के दुःख में रो,
लेना एक ...
 
डूबे देश की इकानामी, इसमें भला मेरी क्या खामी,
मैंने जोड़ा काला पैसा, पर इसमें अफ़सोस कैसा,
जिसने जोड़ा मूरख वो,
लेना एक ...
 
मरे गरीब बीमारी से, या किसी लाचारी से,
या महंगाई को रोवे, रोज आधा पेट ही सोवे,
तू पूरा पव्वा पी के सो,
लेना एक ...
 
नित बढ़ रहा पोलुशन, नहीं मिलता कोई सोलुशन,
कैसी हमने की नादानी, नहीं बचे हवा और पानी,
कल क्या होगा सोचो,
लेना एक ...
 
बढ़ रही गर्मी की मार, सूरज से बरसे अंगार,
मान ले ये मेरी थ्योरी, तू भी कर बिजली की चोरी,
जो भी होना है वो हो,
लेना एक ...
 
मेरी बस इतनी कम्प्लेंट, मुझे मिले मेरा इन्क्रीमेंट,
मिल जाए अगर प्रोमोशन, जाग जाएँ मेरे इमोशन,
देश की चिंता है किसको,
लेना एक ...
 
हम बेशर्म देश के बन्दे, केवल अपने स्वार्थ में अंधे,
क्यों तू अपने को कोसे, भारत है भगवान् भरोसे,
दोष भी भगवान् को दो, लेना एक ...

No comments:

Post a Comment

Thanks for taking out the time...........